प्रदेशभर में कांग्रेस सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन करेगी भाजपा : शिवराज सिंह चौहान

0
6

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने मंगलवार की सुबह भोपाल में कहा कि प्रदेश की जनता कांग्रेस सरकार के छह महीने के कार्यकाल में बेहाल हो चुकी है। पूरे प्रदेश में अराजकता की स्थिति है। अब भाजपा चुप नहीं बैठेगी। पूरे प्रदेश में आंदोलन किया जाएगा। इसकी शुरुआत हो चुकी है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में जब से कमलनाथ सरकार आई है, कानून व्यवस्था ठप हो गई है। प्रदेश बदतर स्थिति में पहुंच गया है। बच्चियों पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ रही हैं। प्रदेश सरकार यदि बच्चियों पर हो रहे अत्याचार रोकने के लिए प्रभावी कदम नहीं उठा रही है। इसलिए हम कांग्रेस सरकार के खिलाफ सड़कों पर संघर्ष करने के लिए मजबूर हो रहे हैं। इसकी शुरुआत हो चुकी है। भोपाल में दुष्कर्म के बाद बच्ची की हत्या के मामले में आज श्रद्धांजलि सभा आयोजित की जाएगी। औऱ प्रदेश में जहां भी ऐसी घटनाएं होंगी वहा बड़े स्तर पर प्रदर्शन किए जाएंगे।

शिवराज सिंह चौहान ने जो सरकार राजधानी भोपाल का कलेक्टर नहीं तय कर पा रही, वो प्रशासन क्या चला पाएगी। उन्होंने राज्य में ‘प्रशासनिक अराजकता’ फैले होने का आरोप लगाते हुए कहा कि अधिकारियों की बोली लग रही है। भारतीय जनता पार्टी बिजली की समस्या को लेकर आंदोलन करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य बिजली के लिए तरस रहा है और कांग्रेस सरकार ने राजधानी भोपाल को अंधेर नगरी बना दिया है। प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए शिवराज ने कहा कि लड़कियां अपने घर के बाहर भी सुरक्षित नहीं हैं। उन्हों गृह मंत्री बाला बच्चन पर आरोप लगाया कि वे सिर्फ बयान देते दिखते हैं और उनका बाकी कोई पता नहीं होता।

पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया कि उनकी सरकार में ग्वालियर-चंबल संभाग दस्युओं से मुक्त हो गया था, लेकिन अब चंबल के जंगलों में डकैत दोबारा एकत्रित होने लगे हैं। उन्होंने कहा कि उनके क्षेत्र में आदिवासियों को बेवजह प्रताड़ित किया जा रहा है और वे इसके खिलाफ आंदोलन करेंगे।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कमलनाथ सरकार के कार्यकाल में प्रदेश की स्थिति बदतर होती जा रही है। सरकार ट्रांसफर और पोस्टिंग के उद्योग में व्यस्त है और कानून व्यवस्था पर उसका ध्यान ही नहीं है। बार-बार तबादलों से पुलिसकर्मियों और अधिकारियों का मनोबल भी गिरा है, जिससे उनकी कार्यक्षमता प्रभावित हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here